August 10, 2019

–सिर्फ सीखो मत , अनुभव करो–

10 habits to get success in Hindi | सफलता पाने के लिए 10 आदते

10 habits to get success in Hindi  | सफलता पाने के लिए 10 आदते


 10 habits to get success in Hindi  | सफलता पाने के लिए 10 आदते




हेलो,

 में आपसे  एक सवाल पूछता हु  क्या आपको अपने जीवन में कामियाबी हासिल करनी है,जो कुछ भी आपके लक्ष्य है उन्हें पाना है  तो आपका उत्तर होगा हा बिलकुल पाना है कोण होगा जिसे सफलता नहीं चाहिए होगी। इसको बड़ा नहीं बनना। पैसा नहीं कमाना । किसको प्रसिद्धि पसंद नहीं आएँगी । 


पर क्या कभी आपने सोचा है की हमें वो सब पाने के लिए क्या करना होगा। या फिर जो लोग आज उस उचाई पे है। जो आज बहोत ज्याद सफल है उन्हें ये सफलता कैसे मिली होगी। हज़ारो में कोई एक ही होता है जो किस्मत के वजह से सफल बन पता है पर वो ज्यादा दिन उस उचाई पे नहीं रह सकता। जिसकी आदते एक सफल इंसान की तरह होती है वही आदमी उचाई पे राज कर सकता है। 

तो दोस्तों आज में आपको कुछ आदते बताऊंगा जो की सफल लोगो ने  बताई है। जिसका पालन करके आप भी अपने क्षेत्र में कामयाबी हासिल कर सकते हो। तो मुझसे एक वादा करो की  में जो भी आज आपको बताऊंगा उसका आप पालन करोगे। तभी  आप पूरा पढ़ो वरना रहने दो तो चलो में आपको अब बताता हु की वो कोनसी आदते है। 


  1.  set goals | लक्ष्य बनाना





सफल वही होता है जिसका लक्ष्य  बिलकुल साफ़ होता है। उसे पता होता है की उसे क्या करना है। अगर आपको सफल होना है तो आपको पहले अपना लक्ष्य बनाना होगा आपको करना क्या है वो समझना होगा। अगर आपको आपका लक्ष्य ही पता नहीं होगा और आप अपनी मंजिल ही नहीं जानते होंगे तो आप भटक  जायेंगे और किसी भी रास्ते पे चले जायेंगे और फिर आपको असफलता के आलावा और कुछ नहीं मिलेगा।

 
चिंता मत करो में हु ना में आपको बताऊंगा की ये सब कैसे करना है। तो आपको पहले ये जानना है की आपको ज़िन्दगी में क्या हासिल करना है। हो सकता है आपके लिए सफलता का  मतलब पैसा कमाना होता है तो किसी खिलाडी के लिए ट्रॉफी जितना। जब आपको ये पता चल जाये कि आपका लक्ष्य क्या है। तो आपको अब उसे कैसे पाना है इसके बारे में सोचना है।  

पहले तो आपको अपने लक्ष्य को तोड़ना है। इसका मतलब है की अपने लक्ष्य को छोटे छोटे हिस्सों में बाटना है। आपको आपके लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अगले ६ महीने में क्या करना है ये तय करना होगा,अगले एक महीने में क्या करना है  और अगर एक महीने में कुछ करना है तो आज क्या करना होगा। अभी क्या करना होगा ये तय करना आपको जरूरी है। 

अगर आप ऐसा करोगे तो आप बस सपने नहीं देखोगे आप उन सपनो के लिए मेहनत करोगे। कई लोग बस सपने देखते है और बातो के अलावा कुछ नहीं करते तो आपको ये नहीं करना है। इसलिए आपको अपने लक्ष्य को तोड़ते आना चाहिए जैसे मेने बताया वैसे। 


2. take responsibility of your life | अपने जीवन की जिम्मेदारी लें  



आपने कई लोगो को ये कहते सुना होगा की भगवान ने मेरे साथ ऐसा क्यों किया। अपने कर्मो के लिए वो भगवान को जिम्मेदार ठहराते है | या तो फिर आपने ये तो जरूर देखा होगा या इसका अनुभव भी किया होगा की कोई अपनी गलती मंजूर नहीं करता या तो कुछ करके भी उसकी जिम्मेदारी नहीं लेता उल्टा किसी और पर उसका दोष डाल देता है। 

पर ये करना क्या सही है? बिलकुल नही ऐसा इंसान कभी सफल नहीं हो पायेगा। जो अपने कर्मो के लिए खुद जिम्मेदारी नहीं ले सकता वो इंसान जिंदगी में कुछ बड़ा नहीं कर पायेगा। आप ही सोचो अगर आपके पहचान में ऐसा कोई व्यक्ति होगा तो क्या आप उस पर विश्वास करोगे। बिलकुल नहीं करोगे। 

तो आपको अपनी जीवन की जिम्मेदारी खुद लेनी होगी। जब आप खुदकी जिम्मेदारी लेते हो तो आपको अपनी गलती का अहसास होता है आप अपनी गलतियों के बारे में जानते हो। और जब आप अपनी गलतिया जानोगे तभी तो उन्हें सुधारोगे।  क्युकी गलती तो होने ही वाली है क्युकी हर इंसान गलतिया करता है पर जो इंसान अपनी गलतियों से सिख लेता है वही कामयाब बनता है। वैसे ही आपको अपनी सफलता से भी सिख लेनी जरूरी है। क्युकी आपको सफलता कैसे मिली ये भी जानना बहोत जरूरी है। 

३.  discipline | अनुशासन


जब किसी नियमो का पालन किया जाता है उसे अनुशासन कहते है। अनुशासन यानि खुद के ऊपर शासन करना। में मेरा ही एक उदाहरण देता हु। जब में छोटा था तो में कही पे भी जाने में देरी करता था पता नहीं मुझे अपने आप ही ऐसी  आदत हो गयी थी। 

 एक दिन जब में अपने टूशन में देरी से गया और मेरे शिक्षक ने मुझे वापस घर भेज दिया और तब से जब भी में देरी से जाता तो मुझे वापस घर आना पड़ता इस वजह से मुझे उनका बहोत गुस्सा आता था। पर उस वजह से मेने कही पर भी जल्दी या वक्त पे पहोचने लगा। फिर मेने एक सेमिनार देखा जो की एक बड़े आदमी का था तो उन्होंने वह पे बताया था की वक्त की क्या अहमित होती  है। और अनुशासन का पालन करने से हम क्या हासिल कर सकते है। 

अगर आप एक अनुशासित आदमी है जो नियमो का पालन करता है। तो आपको हर जगह सम्मान मिलेगा। आपको अपने लिए कुछ नियम बनाने होंगे जो आपके लिए अच्छे हो आपको सफलता प्राप्त करने में मदत करे। अगर आप रोज अपने नियमो का पालन करो तो आप अपने सारे काम पुरे कर सकते हो आपका वक्त बर्बाद नहीं होगा।  

जो कोई भी वयक्ति आज सफल है उसका कहना है की अनुशासन बहोत बड़ी भूमिका निभाता है आपके सफल होने में। अनुशासन ही वो चीज़ है जो आपको एक बड़ा व् सफल इंसान बनाता है। इस खूबी के वजह से कई लोग आपको अपना आदर्श समझेंगे। तो आपको भी अनुशासन का पालन करना चाहिए।  

४.   work on yourself | अपने आप पर काम करो





अब आप बोलोगे खुदपे काम करना मतलब क्या। खुदपे काम करना यानि खुद को वक्त देना खुद का ख्याल और खुदकी देखभाल करना। तो दोस्तों आप अप्न्मे अपनों का ख्याल रखते हो क्यों है ना। उन्हें क्या चाहिए ये आपको पता होता है। और उन्हें अच्छा और खुश देखने के लिए आप जो भी कर सकते होंगे   वो करते होंगे। और जिस वजह से वो भी आपका ख्याल रखते होंगे आपसे प्यार करते होंगे। 

वैसे ही आपको खुद से प्यार करना चाहिए खुदको वक्त देना चाहिए। अगर आप खुद से प्यार करोगे और वक्त दोगे तो आपका शरीर और दिमाग भी आपको साथ देगा। आपको नए कौशल सिखने चाहिए। आपको जो भी वक्त मिलता होगा तो आपको उस वक्त को बर्बाद नहीं करना उसका उपयोग नयी चीज़े सिखने में करना होगा इससे आपको और आपके दिमाग को बहोत ज्याद ज्ञान प्राप्त होगा। 


आप कुछ भी नया सिखने के लिए किसी वीडियो,ऑडियो या तो किसी लेखो की मदत ले सकते है। और अगर आपके कोई गुरु है तो आप उनसे भी बहोत कुछ सिख सकते हो। 

५ .  reading | पढ़ना





क्या आप जानते हो की जितने भी कामयाब लोग है उनमे क्या साम्य है। हा बिलकुल  सही वो सब पढ़ते है। वो ऐसा पढ़ते जो उनके लिए बहोत जरूर हो। जैसे किसी वयक्ति के बारे में कोई किताब जिससे कामयाब लोगो को हौसला और समझ दोनों मिलते है जो उनको जिंदगी में हर जगह काम आते है। पढ़ने से आपकी स्मरणशक्ति बढ़ती है।

 जिस वजह से आप कोई काम नहीं भूलेंगे। पढ़ने के वजह से आपकी मानसिक उत्तेजना भी बढ़ती है जिसके कारण आप हमेशा सक्रीय रहोगे और फिर आपका हर काम बहोत अच्छे से पूरा होगा। 


मजबूत विश्लेषणात्मक सोच कौशल आपके अंदर पैदा होती है जो की बहोत जरूरी है।  वजह से हमें अपने काम और किसी भी चीज़ का विश्लेषण करना आ जायेगा। कितनी अच्छी चीज़ है ये क्यों है ना। इसके कारन हम कितनी गलतिया करने से बच जायेंगे।


 पढ़ने की वजह से आपका तनाव काम होता है। ये बिलकुल सच बात है। पढ़ने से आपके ऊपर का तनाव बहोत ज्यादा काम होता है में मैंने खुद अनुभव किया है। तो आप भी इसे आजमाए और मुझे जरूर बताये की आपने क्या अनुभव किया। और इसका एक फायदा है आपका मनोरंजन तो हो रहा है पर आपको ज्ञान भी प्राप्त हो रहा है। 

६.   time management | समय प्रबंधन


आ[पको समय का प्रबंधन करते आना चाहिए जिसे हम अंग्रेजी में  time management कहते है। आपको अपने समय को अच्छे से काम में लाना होगा क्युकी जितनी पैसे की अहमियत है उससे कई ज्यादा समय की अहमियत है। पैसे से ज्यादा समय मूल्यवान है। 

पैसे आते है जाते है पर एक बार गया हुआ समय वापस लाना असंभव है। आपको हर काम को कही पे लिखके रखना होगा और सबको अपने हिसाब से समय देना होगा इस वजह से आपके काम समय पे भी हो जायेंगे और आपको उलझन भी नहीं होगी। 

तो आप अपना समय जरूरी चीज़ो को पहले दे पाएंगे और कुछ ही दिन में आप देखेंगे की आप का हर काम समय पे पूरा हो रहा है और आप पहले से और ज्यादा तरक्की कर रहे हो। 


७.   take risk | जोखिम उठाओ


आपने वो एक विज्ञापन देखा होगा उसमे हीरो कहता है की “डर के आगे जित है” मुझे नहीं पता ये किसका विज्ञापन है। जिसको भी पता हो वो कमेंट करके जरूर  बताये  ताकि मुझे पता चल सके    

तो ये भलेही एक विज्ञापन है पर जो इसमें कहा गया है की “डर के आगे जित है” जब तक आप डरते रहोगे आप कभी सफल नहीं हो पाओगे। सफल वही होता है जिसमे जोखिम उठाने की हिम्मत हो। चाहे आप कुछ भी बनना चाहते हो एक अच्छा खिलाडी एक अच्छा व्यापारी या कुछ भी जो आप चाहो पर आप तब तक सफल नहीं हो पाओगे जब तक आप अपने डर को हरा न दो और जोखिम न उठाओ। 

इससे दो ही चीज़े होगी या तो आप सफल हो जाओगे नहीं तो असफल हुए तो आपको उससे सिखने को मिलेगा और वो गलतिया सुधारकर फिर से कोशिश करके सफल हो जाओगे तो ये बात समझ जाओ की जब तक जोखिम नहीं उठाओगे तब तक आप वैसे भी असफल रहोगे तो जोखिम उठाओ और सफल होने के लिए प्रयत्न करो। 




८.   don’t quit | मत छोड़ो


आप जो भी पाना चाहते हो वो जब तक हासिल ना करलो तब तक आपको मैदान नहीं छोड़ना है।  एक बात जान लो मैदान कायर छोड़ते है कोई खिलाडी नहीं। और आप बहोत अच्छे खिलाडी है अगर  आपको सही मार्गदर्शन मिल जाये तो आप नहीं जानते की आप क्या कर सकते हो। 

आप किसी भी चीज़ के लिए मेहनत करो और जब आपका फल कुछ ही दुरी पर है तो आप उसे छोड़ दो। ये बिलकुल सही नहीं है। अगर आपको कुछ भी करना है तो अपने अंदर तक इस आवाज को पोहचाओ की जब तक आप वो चीज़ हासिल नहीं कर लेते तब तक मैदान नही छोड़ोगे। 


९.  do what you love | जो अच्छा लगे वो करो 



जो चीज़ आपको अच्छी लगी वो करो क्युकी जो चीज़ आपको पसंद है उसमे आपके सफल  होने की संभावना अधिक होती है। मुझे शायद इसके बारे में जायदा बताने की जरूरत नहीं है क्युकी ज्यादतर लोगो को इसके बारे में पता होगा अगर आपको इसके बारे में जानना है। की ये क्या है, हमें क्या करना चाहिए [क्युकी हर चीज़ जो आपको अच्छी लगे जरूरी नहीं की सही हो] तो मुझे ईमेल करे में आपके लिए जरूर लिखूंगा। 


१०.   stand up straight | सीधे खड़े रहें



शायद आप सोचो की ये क्या है मतलब सीधा खड़े रहने से क्या होगा? इससे हमें सफलता कैसे मिलेगी ? अरे भाई बहोत ज्यादा काम की चीज़ है ये इस छोटी सी आदत की वजह से आपको लोग एक कामयाब व्यक्ति के रूप में देखेंगे। 

कैसे ? इसका सीधा उत्तर है की लोग जब आपको देखेंगे तो आप उनको बिलकुल सीधे,कन्धा पीछे झुकाए और सिर सीधा ऐसे नज़र आएंगे तो जब आप ऐसे दीखते हो तो लोग आपकी तरफ आकर्षित होते है। 

आपको एक महत्त्वाकांक्षी आदमी समजते है और आपसे परिचय बढ़ाने ने की कोशिश करते है तो आज से ही सीधा खड़े रहने की आदत डाल ले। में जल्दी ही personality development (व्यक्तित्व विकास) के ऊपर आपको जानकारी दूंगा तो अभी अपना ई-मेल भेजे और सीधा अपने मोबाइल या कम्प्यूटर पे notification (अधिसूचना)  पाए। 


तो आपको ये आर्टिकल कैसा लगा और क्या कोई और आदत है जो सफल बनने के लिए उपयुक्त है अगर है तो जरूर कमेंट करके बताये और अपनी राय दे। हमारे साथ जुड़ने के लिए ईमेल करे और हमारी सारी जानकारी और नए लेख अपने ईमेल पर पाए “2190 rule for success | सफलता के लिए 21 90 नियम” इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे 
x