moral stories in Hindi | 11 moral stories in Hindi

दोस्तों आज में आपके साथ moral stories in Hindi  जिनमें से कुछ कहानियो के शीर्षक Hindi stories – १. the thief Hindi story  २. golden opportunity Hindi motivational story ३. confidential information Hindi Kahani ये है। ये Hindi kahaniya आपको पसंद आएगी और आपको मदत करेगी ये आशा है।

 
 

 stories in Hindi ( हिंदी कहानिया)

moral stories in Hindi | stories in Hindi with moral
moral stories in Hindi | stories in Hindi with moral 

 

 

 wrong path Hindi story ( गलत रास्ता )

 
 एक गांव में एक आदमी रहता था उसे पनीर खाने की लत थी वो हर वक्त खाने में पनीर ही मांगता था। एक बार वो खाने बैठा तो उसकी माँ ने कहा की हम कोई रईस नहीं है जो हर रोज पनीर खा सके आज तुझे बिना पनीर के ही काम चलना पडेगा। तो उसको गुस्सा आ गया और उसने सामने राखी खाने की थाली फेंक दी और उठके चला गया। पर उसे पनीर खाना ही था वो चलते चलते एक ढाबे के पास पंहुचा और पनीर को देखके खुश होने लगा तभी एक भिकारी आया और उसे भिक मांगने लगा तो उसने गुस्सा हो कर उससे सुनाने लगा तभी उसके दिमाग में एक ख़याल आया और उसने भिकारी से कहा। अगर तुम खाना खाना चाहते हो तो एक काम करो। 
उसने कहा हम खाना खाते है और जब में बटुआ निकलू तो तुम उसे लेके भाग जाना तो उसने ऐसा ही किया और फिर वो आदमी भिकारी को देखकर जोर जोर से चीखने लगा ‘चोर-चोर’ और तभी कुछ लोगो ने उस भिकारी को पकड़ लिया। भिकारी ने सबकुछ बता दिया और फिर उस आदमी को पुरे गांव में सब चोर कहने लगे।
 

moral of the story  – 

 अगर गलत राह पे चलोगे तो अंजाम भी गलत ही होगा
 
 

golden opportunity Hindi story (सुनहरा मौका)

 रामनगर गांव में एक राजन नाम का  एक गरीब लड़का रहता था उसने पैसे कमाने के लिए एक तरकीब निकली उसने दुकान से कुछ रुमाल ख़रीदे और उसे सिंगापूर के रुमाल कहके बेचने लगा रघु को पहले दिन ५० रुपये का फायदा हुआ फिर वो रोज ऐसे ही रुमाल लेता और बेचता उससे इससे अच्छा मुनाफा होता था। एक दिन बाजार में जाते हुए रघु ने देखा की एक ज्योतिष के यहाँ कई लोग मौजूद थे वो वहा गया और खिड़की से अंदर देखने लगा वह पे एक व्यापारी और एक  औरत मौजूद थे उसने उनकी परेशानिया सुनी और व्यापारी को एक गेरुआ रंग का रुमाल और औरत को एक हरी रंग  की साड़ी लेने को कहा। इतना सब सुनके राजन वाहा से चला गया और उसने दुकान में जाके अलग अलग रंग के रुमाल और साड़ी खरीद लिए। 
 
और अगले दिन उनको ज्योतिष के आश्रम के बहार खड़ा हो गया फिर जैसा ज्योतिष बताता लोग वैसे रंग का रुमाल और साड़ी ले लेते। उसका अच्छा मुनाफा हो जाता था फिर उसने  ६ महीने बाद अपने मुनाफे से एक दुकान खरीदी की और वह कपडे बेचने लगा और अमिर बन गया।
 

moral of the story – 

 अवसर हमरे आस पास ही होते है अगर हम हमारी सोच को जागृत रखे तो अवसर का उपयोग करके हम सफलता प्राप्त कर सकते है ।
 
 

confidential information moral story in hindi  ( गुप्त जानकारी ) 

 
जवाहर नाम का ठग मानिकपुर गांव में रहता था वो atm पे आने वाले लोगो को ठगता था। एक दिन ATM पे एक बूढी औरत आयी तो जवाहर उसके पास आया वो जवाहर को बताने लगी की उसके बेटे ने उसके account  में पैसे २० हज़ार रुपये जमा किये है पर मुझे  ATM से पैसे नहीं निकलना आता। तो जवाहर ने उसको बताया और उसे १००० रुपये निकाल के दिए पर उसने उस बूढी औरत का card चेंज कर दिया और PIN number  भी देख लिया। और उसके जाने के बाद २०,००० निकाल लिए जब उस बूढी औरत का बेटा आया तब उसे पता चला की जवाहर ने उसे ठगा है। एक दिन जवाहर ऑटो में अपना बटवा भूल गया वो ऑटो वाला बहोत होशियार था उसने उसके बटुए में कई अलग अलग नाम के ATM CARD दिखे तो उसे शका हुआ।
 
 २ दिन बाद ऑटो वाले को जवाहर मिला तो उसने बताया की आप अपना बटुआ भूल गए थे। और उसे बटुआ दे दिया और एक ATM  के पास  छोड़ दिया। उसके बाद जवाहर  ने और एक आदमी को ठगा और ATM के बाहर आया तो वह पे ऑटो वाले के साथ पुलिस थे ऑटो वाले ने कहा की यही वो आदमी है जिसे बटुए में कई ATM CARD थे और फिर उसे पुलिस ने पकड़ लिया।
 
 

moral of the story- 

कभी भी ATM PIN,PASSWORD और OTP जैसी  गुप्त जानकारी जो अगर दूसरा जान ले तो हमें नुकसान हो सकता है ऐसी चीज़े कभी भी दुसरो को नहीं बतानी चाहिए।
 
 
 
moral stories in Hindi 4 ( हिंदी कहानी )
 

miser old man Hindi moral story ( कंजूस बूढ़ा आदमी 

 
शामलाल नाम का एक ग्वाला बहोत कंजूश था वो हर रोज सुबह लोगो के घर से newspaper और दूध चुराता था। उसके घर के ऊपर वाला हिस्सा उसे किराये पर देना था पर उसनी शर्त राखी थी की जो आदमी newspaper और दूध लगाएगा उसे ही घर किराये पे मिलेगा। ताकि वो  थोडा थोड़ा newspaper और दूध चुरा सके। एक दिन उसकी पत्नी बोली एक हप्ते से इमली के पानी के साथ चावल खाके bore हो गयी हु अब तो इमली भी खतम हो गयी है। तभी वहा से  एक सब्जी वाला जा रहा था शामलाल नई उसे रुकाया और उसकी हर सब्जी को हात में लेकर ये तो ख़राब है कहकर जमीन पे फेकने लगा। 
सब्जी वाले को गुस्सा आया और वो चला गया उसके जाने के बाद शामलाल ने उन सब्जियों को थैली में डाला और जैसे ही पीछे मुड़ा उसे सब्जी वाला दिखा सब्जी वाले  ने कहा तुम्हारी कंजूसी के वजह से हमें बहोत नुकसान हुआ है। इसलिए आज में ही आ गया और उसने शामलाल को बहोत  पीटा।
 

 moral of the story

इंसान को इतना भी कंजूस नहीं होना चाहिए की उसकी आदत की वजह से उसे शर्मिदा होना पड़े। बचत करना और कंजूसी करना दोनों अलग चीज़े है। बचत अच्छी चीज़ है जबकि कंजूसी बहोत गन्दी चीज़ है।
 
 
 
short moral stories in Hindi 
 
 

saving hindi story ( बचत )

 
 कैलास का एक पानीपुरी का ठेला था वो उसे अच्छी कमाई करता था पर वो बहोत लालची था और लोगो को  पैसे ब्याज पे दिया करता था। एक दिन उसके ठेले पे उसका एक दोस्त आया जो अंडो का business  करता था। उसको पैसो की जरुरत थी क्योकि उसका business अच्छा नहीं चल रहा था। उसने कैलास से दस हज़ार उधार पे मांगे तो कैलास ने कहा की तुम हर बार पैसे १% ब्याज पे ले जातो हो पर इस बार १०% ब्याज लूंगा तो उसने नहीं कहा और वह से चला गया। कैलास का लालच हर दिन बढ़ने ही लगा। उसकी पत्नी ने कहा कैलास की आप कुछ भी बचत नहीं कर रहे हो और ब्याज भी इतना ले रहे हो तो उसने कहा। तुम ये सब नहीं समझेगा और उसे काम करो कहकर चला गया। एक दिन कैलास का बेटा खेलते वक्त गिर गया कैलास उसे फौरन अस्पताल ले गया वह पे डॉक्टर ने कहा की इलाज के लिए २ लाख रूपये लगेंगे।
 
 तो कैलास पुरे गाओं में हर एक के घर जाके उधारी के पैसे मांगने लगा। लेकिन किसीने उसे पैसे नहीं दिए वो मायूस होके अस्पताल आया तो उसे वह पे उसका दोस्त दिखा जो  अंडो का व्यापारी था। उसने इलाज के पैसे भर दिए थे और कहा जब पैसे आये तो बिना ब्याज के वापस कर देना। उस दिन से कैलास ने बचता करना सीखा और ब्याज पे पैसे देना बंद कर दिया।
 

moral of the story –

उधार लेना और उधार देना दोनों ही गलत बात है। पैसे की  वजह से रिश्तो और दोस्तों में परेशानिया निर्माण हो सकती है। कभी भी  प्यार के ऊपर पैसे को महत्व नहीं देना चाहिए।
 
 
 

 show off Hindi story with moral ( दिखावे का अंजाम )

 
मनविंदर नाम का आदमी बहोत घमंडी और चिड़-चिड़ा था। एक दिन वो अपनी पत्नी के साथ  metro में सफर  करने शहर आया। और उसे लेके metro  में बैठ गया उसके बाजु वाले ने पूछा कहा से आये हो पर मनविंदर कहने लगा आपको क्या करना है ऐसे ही चोर सारी जानकारी ले लेते है और फिर लुटते है उसे ये सुनकर गुस्सा आया और उसने कहा में तो ऐसे ही पूछ रहा था पर आप मुझे चोर कह रहे है तो मनविंदर ने  कहा बात मत करो।  बादमे अपने पत्नी से ऊंची आवाज में कहने लगा की जो बैग में २ लाख रूपये है उसे बराबर रखो और सब उसकी सुर देखने लगे तो खुश होने लगा। एकदम से metro में लाइट बंद हो  गयी जब लाइट आयी तो उसकी बैग गायब हो गयी थी। तो वो जोर जोर से चिल्लाने लगा तभी उस बाजु वाले ने कहा की सामने बैठे हुए व्यक्ति ने बैग चुराई है पर मुझे आपने बात न करने के लिए कहा था तो मैंने कुछ नहीं बताया । और ये सुनकर मनविंदर रोने लग गया।
 
 

moral of the story – 

 कभी भी घमंड नहीं करना चाहिए और किसीको भी छोटा समझकर उसकी बेइज़्जती नहीं करनी चाहिए। खुदको बड़ा दिखाके किसीको छोटा महसूस करवाओगे तो आपको लोग हमेशा बुरा ही समझेंगे।
 
 
 
moral stories in Hindi 7 ( हिंदी कहानी )
 

 Useless advice Hindi  story ( बेकार की सलाह )

 
 एक गांव में मलाल नाम का किसान रहता था उसके पास एक गधा और एक बैल था। बैल से वो रोज खेत में काम करवाता और फसल काटने के बाद उसे गधे पे लादकर बाजार ले जाता। एक दिन बैल ने गधे से कहा की वो रोज काम करता है और थक जाता है तो गधे ने उसे एक उपाय बताया। उसने कहा की आज से तुम ऐसा जताना की तुमसे उठा नहीं जा रहा फिर मालिक तुम्हे काम पे नहीं ले जायेंगे। उसे ये उपाय अच्छा लगा उसने ऐसा ही किया। २ दिन बाद किसान आया और गधे की तरफ देखा और उसे अपने साथ ले गया और उसीसे अब खेत में काम करवाने लगा।
 गधे ने शाम को आके बैल से कहा तुम ये नाटक छोडदो पर उसने मन कर दिया। अगले दिन एक कॅशे आया और किसान से बात करने लगा किसान ने कहा अब ये मेरे किसी काम का नहीं इसका जितना भी पैसे बनता है दे दो। तो पैसे देकर कसाई ने कहा में कल इसे ले जाऊंगा ये सब देखकर बैल डर गया  और सुबह होते ही भागने और चलने लगा। तो किसान ने कसाई  को पैसे वापस कर दिए और बैल को नहीं बेचा।
 
 

moral of the story –

किसीको सलाह देने से पहले उसके काबिल होना जरुरी है। हमारी गलत सलाह के वजह से हमको और दूसरे को नुकसान हो सकता है।
 
 
 

flower pot Hindi  story ( राजा का फूलदान )

 
एक राजा के दरबार में एक सेवक फूलदानी साफ रखने का काम करता था उस राजा को उन सब फूलदानों से बहोत प्रेम था। एक दिन सफाई करते हुए उससे राजा की सबसे पसंदिता फूलदानी गिरके टूट गयी जब राजा  को ये बात पता चली तो वो बहोत उससे हो गया और उसे सेवक को फांसी की सजा सुना दी। इसके बाद राजा ने उससे उसकी  आखिर इच्छा पूछी तो उसने कहा की वो सारी फूलदानियों को एक साथ देखना चाहता है तो राजा ने वैसा ही किया और सारी फूलदानिया एक जगह रख दी ।  उस सेवक ने एक डंडा उठाया और सारी फूलदानियों को फोड़ दिया ये देखकर रजो को और भी गुस्सा आया और उसने पूछा ऐसा क्योंकि तुमने तो उस सेवक ने कहा। 
एक ना एक दिन ये फूलदानिया किसीसे न किसीसे तो तुड़ जाती तो उनको भी मौत की सजा होती तो उनकी मैंने जान बचाई है अब सजा सिर्फ मुझे होगी इस बात से राजा को अपनी गलती का एहसास हुआ और राजा ने उस सेवक को अपना मंत्री बना दिया।
 
 

 stories with moral –

 कभी भी गुस्से में फैसला नहीं करना चाहिए वरना बाद मे आपको पछताना पद सकता है। अगर आप दुसरो के बारे में सोचो तो आपका भी अच्छा ही होता है।
 
 
 
 kids Hindi story with moral ( हिंदी कहानी ) 
 
 

 competition Hindi story with moral ( खाने की प्रतियोगिता )

 
विनय नाम के आदमी का एक ढाबा था वो लोगो को बेवकूफ बनाने के लिए अलग अलग प्रतियोगिताये रखता था। उसने अपने ढाबे पे ५० पराठे और सब्जी खाने की प्रतियोगिता राखी जो भी ये प्रतियोगिता जीतेगा उसे १००० रूपये का इनाम रखा और अगर न खा सका तो फिर खाने के पुरे पैसे और १००० रूपये विनय को देना पड़ेगा। एक दिन उसके ढाबे पे छोटू और मोटू नाम के दो दोस्त आये मोटू बहोत मोटा था तो विनय ने कहा वो इस प्रतियोगिता में भाग नहीं ले सकता। तो छोटू ने हिस्सा लिया और जल्दी जल्दी पराठे खाने लगा। ये देखकर विनय दर गया और गिनती में बेईमानी करने लगा उसने कहा की ४० ही पराठे हुए है पर छोटू को पता था की ५० हुए है तो उसने कहा तुम बेईमानी कर रहे हो और मोटू को कहा की तुम अब पहले से गिनती करना तो ये सुनकर विनय दर गया और कहा की मुझे माफ़ करदो मैंने बेईमानी की है और उसे उसके इनाम के पैसे दे दिए और पप्रतियोगिता रखना भी बंद कर दिया।
 
 

 stories with moral –

अगर बेईमानी से काम करोगे तो आपका ही नुकसान होगा। बेईमान को कभी न कभी उसे सबक सिखाने वाला मिलता ही है।
 
 

 rude behavior Hindi moral story (  घमंडी व्यापारी  का नुकसान )

 
एक गांव में सोने का व्यापारी था जो बहोत घमंडी था। उसको एक दिन दूसरे शहर जाना था तो वो ट्रैन में बैठा वहा पे एक गरीब व्यक्ति आया और पूछा क्या में बाजु में बैठु तो व्यापारी ने कहा तुम मेरे बाजु में नहीं बैठ सकते तुम्हारी हैसियत नहीं है तो वो आदमी वह से चला गया। कुछ देर बाद TC आया तो उसने टिकट चेक किया और ID न होने के कारन ३०० का जुर्माना लगा दिया तो व्यापारी ने उसे बहोत कुछ कहा और उसे अपने से छोटा बताकर ५०० रूपये दे दिए तो TC  ने २०० रूपये वापस करके आपका ३०० रूपये का ही जुरमाना है कह के चला गया। थोड़े समय बाद वह एक सूट -बूट पहना हुआ आदमी आया और वो बड़ा आदमी है सोचकर व्यापारी ने उसे जगह दे दी। तो वो बाटे करने लगे। उसने कहा की वो दुबई में बड़ा BUSINESS करता है। 
और biscuit निकालके ये दुबई का है कहकर उसे दी दिया व्यापारी ने वो खा लिया और थोड़ी ही देर में वो बेहोश हो गया। जब उठा तो उसके शरीर पे जितना भी सोना था चोरी हो गया था उसने TC से शिकायत की तो TC ने कहा की आप इतने बड़े आदमी है आप ही कुछ करिये  हम इसमें क्या कर सकते है। उस दिन से व्यापारी को समज में आया की वो गलत था और वो सबसे अच्छा व्यव्हार करने लगा।
 
 
 

Hindi  stories with moral – 

कभी भी किसीका काम पद सकता है। इसलिए कभी भी किसीसे बुरा व्यहार न करे बल्कि अच्छे से उन्हें अपना दोस्त बनाये इस वजह से ज़िन्दगी भी सरल हो जाती है।
 
 

Hindi story with moral ( चोरो की नयी तकनीक )

 
नानू और शाम नाम के दो दोस्त चश्मे बेचा करते थे। वो चश्मे पे स्प्रे मारकर दिया करते जिस वजह से थोड़ी दूर जाते ही लोगो की आँखे जलने लगती थी। और पहगिर नानू जाके उनको लूट लेता था। थोड़े दिनों बाद वो एक गाव् में गए और वह पे दुकान लगा दिया वह पे एक औरत आयी जो की एक cid offiicer थी उसने एक चश्मा माँगा और उसे पहनके दिखने को को बोलै पर नानू ने उसपर स्प्रे मारा हुआ था तो उसने उसका ध्यान भटकाया और चश्मा बदल दिया तो औरत ने कहा की दोनों चश्मों को एक जगह रख दो और फिर उसने दोनो चश्मों को कई बार इधर उधर करके रख दिया और पहनके दिखने के लिये कहा जैसे ही  नानू ने चश्मा पहना वो चिल्लाने आँखे जलने लगी। औरत ने अपने हवलदारों को कहा की उसे गिरफ्तार करले।
 
 

Hindi  stories with moral –

 में सावधान रहना चाहिए क्योकि हमरी लापरवाही के वजह से हमें बहोत बड़ा नुकसान हो सकता है।
 
 
must read :- 
 
 
 
अगर आपके पास कोई भी ऐसा आर्टिकल है ( moral stories in hindi, hindi kahaniya, motivational story in hindi, etc ) जो लोगो की जिंदगी में ख़ुशी और फायदा पोहचा सके तो हमारे e-mail – contact@passionroute.com पे भेजे। धन्यवाद। 
Share

4 thoughts on “moral stories in Hindi | 11 moral stories in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »